प्रीवियस आर्टिकल

2020 में अपना सोना खरीदने का तरीका बदलें

3 मिनट पढ़ें

बानगी
01 Feb 2019

जौहरी हॉलमार्क वाला सोना क्यों बेचते हैं और इससे आपको क्या फायदा है?

197 दृश्य 3 MIN READ
Gold Hallmarking In India

क्या आप जानते हैं कि भारत में लगभग 4,50,000 सुनार और 1,00,000 सोने के जौहरी हैं?

इन दिनों देश में जरूरत से ज्यादा जौहरी हैं, जिनसे आप सोना खरीद सकते हैं। इसलिए, अगर जौहरी ग्राहकों को लुभाना चाहते हैं और उन्हें अपना ग्राहक बनाए रखना चाहते हैं, तो उन्हें सोने की गुणवत्ता के बारे में आश्वस्त करना बहुत जरूरी है।

भारत में 2000 में आई, सोने के आभूषणों की हॉलमार्किंग योजना वैसे तो एक स्वैच्छिक योजना है। लेकिन सरकार सिर्फ हॉलमार्क वाला सोना बेचने के लिए ज्‍यादा-से-ज्‍यादा जौहरियों को प्रोत्साहित करने के लिए महत्वपूर्ण कदम उठा रही है। इसके कारण निम्‍नलिखित हैं :

बीआईएस (भारतीय मानक ब्यूरो) हॉलमार्क भारत में बनने वाली सोने की चीजों की गुणवत्ता और शुद्धता का भरोसेमंद प्रमाण है। यह सत्‍यापित करता है कि वह सोने की चीज बीआईएस द्वारा निर्धारित शुद्धता के मानकों का पालन करती है।

Gold Hallmark Signs that are given by Gold Jewellers

जौहरियों के लिए हॉलमार्क वाला सोना बेचना इसलिए महत्वपूर्ण हो जाता है, ताकि बाजार के साथ-साथ अपने ग्राहकों में भी भरोसा पैदा हो सके।

बीआईएस जौहरियों के लिए उनके सोने के आभूषणों को हॉलमार्क करने की नीतियों में भी काफी सुधार कर रहा है। उदाहरण के लिए, ग्रामीण भारत में जौहरियों के लिए लाइसेंस शुल्क कम कर दिया गया है, ताकि ज्‍यादा-से-ज्‍यादा जौहरी सोने की हॉलमार्किंग के लिए अपना पंजीकरण करा सकें।

बीआईएस कारीगरों और जौहरियों के लिए विभिन्न प्रशिक्षण कार्यक्रमों का भी आयोजन कर रहा है, ताकि सोने के हॉलमार्क वाले आभूषण बेचने में उन्हें मदद मिल सके। बीआईएस ने देश में ज्‍यादा-से-ज्‍यादा परख प्रक्रिया और हॉलमार्किंग केंद्रों को खोलने के उद्देश्‍य से केंद्रों पर उपकरणों को रियायती लागत पर उपलब्‍ध होने को सक्षम बनाया है।

सरकार और बीआईएस द्वारा उठाए जा रहे इन कदमों से जौहरी सिर्फ हॉलमार्क वाला सोना बेचने की ओर तेजी से बढ़ रहे हैं। अभी, भारत में हॉलमार्क वाला सोना बेचने वाले 24,000 से ज्‍यादा जौहरी हैं।

आप अपने शहर के बीआईएस-पंजीकृत जौहरियों की सूची यहांपा सकते हैं।.

संबंधित: हॉलमार्क वाले सोने के आभूषण ही क्यों खरीदें?

आपको सिर्फ हॉलमार्क वाला सोना ही क्यों खरीदना चाहिए?

सिर्फ देखकर सोने के आभूषणों की सही-सही गुणवत्ता और शुद्धता को आंकना असंभव है। आपको इसके लिए किसी विशेषज्ञ की जरूरत होती है। लेकिन जब आप किसी सोने की चीज पर बीआईएस हॉलमार्क के सभी 4 चिन्‍हों को देख लेते हैं, तो आप आभूषण की शुद्धता और विशुद्धता के दावे के बारे में आश्‍वस्‍त हो सकते हैं।

और शुद्धता के इस सत्‍यापन के बिना, आप असल में सोने की चीज की वास्तविक कीमत से ज्‍यादा का भुगतान कर सकते हैं।

यहां तक कि हॉलमार्क वाले सोने को बेचना या रिसाइकल कराना बहुत ही आसान है। चूंकि आप इसकी शुद्धता के बारे में आश्वस्त हैं, इसलिए आपको इसकी जांच के लिए किसी परख केंद्र जाने की जरूरत नहीं होगी, और न ही आपको इसके लिए किसी जौहरी को कहना होगा। आपको बस प्रचलित सोने की दर के अनुसार इसकी सही कीमत पूछने की जरूरत है।

सोना खरीदते समय जागरूकता मुख्‍य भूमिका निभाती है। यदि आप ग्राहक वाले अपने अधिकारों के बारे में जानते हैं, तो आप असली सोने की जगह कुछ और खरीद लें, इसकी संभावना काफी कम है।

Related article: All you need to know about hallmarking

Was this article helpful
571 Votes with an average with 0.9

Thank you for your feedback. We'd love to hear from you how we can improve more. Please login to give a detailed feedback.

Thank you for your feedback. We'd love to hear from you how we can improve more. Please login to give a detailed feedback.

छिपी हुई कहानियां